HINDI BLOG KNOWLEDGE

www.hindiblogknowledge.com Hindi blog knowledge, Technology, Tech, Whatsapp, Internet, and all information

Breaking

Showing posts with label BLOGING. Show all posts
Showing posts with label BLOGING. Show all posts

Sunday, February 6, 2022

February 06, 2022

What is the budget, how is it made, why is it important for the country? complete information

What is the budget, how is it made, why is it important for the country?  complete information


 What is budget and why is it important for the country?  (What is Budget in Hindi): Finance Minister of India Nirmala Sitharaman will present the budget on 1 February 2022.  The eyes of the whole country are fixed on the budget, because the government not only presents an account of the country's economic condition, but also decides the economic future of the country.  This year's budget is coming at a time when the country is battling the third wave of Corona, in such a situation it is even more important for the common people.  Let us understand what is the budget?  Why is it important for the country?  Here you will get complete information about the budget and some interesting facts related to the budget will also be told.


What is the budget, how is it made, why is it important for the country? complete information


 You must have heard about the budget but very few people know that this budget kya hota hai, kaise banta hai aur desh ke liye kyu jaruri hota hai?  If you also do not know about it, then from today's article you will get full information about the budget.


 The Finance Minister of our country is going to present a new budget on February 1, 2022, on this occasion, we thought that why not tell our audience in detail about it.  budget kya hai, kyu jaruri hai, kaise banta hai?



 What is budget?  (What is Budget in english) Full Definition of Budget in English


 A budget is a financial plan for a defined period, often a year.  It can also include planned sales volumes and revenues, resource amounts, costs and expenses, assets, liabilities and cash flows.  Companies, governments, families and other organizations use it to express strategic plans of activities or events in measurable terms.


 A budget is the summation of the finances allocated for a particular purpose and a summary of the intended expenditure along with proposals for how to accomplish them.  This may include a budget surplus, providing funds for future use, or a deficit in which expenditure exceeds income.


 Budget (derived from the French word bouget) refers to the list of income and expenditure of money (revenue).  Economics is an important concept in macroeconomics.


 According to Article 112 of the Constitution of India, the Union Budget is the annual financial audit of the country.  The Union Budget is an approximate statement of the government's earnings and expenditure for a particular year.  The government presents the details of its estimated income and expenditure for the particular financial year through the budget.


 For example, the financial statement of the central government for a given year is called the Union Budget.  The government has to present the budget at the beginning of every financial year.  The financial year period in India is from 1st April to 31st March.  The Union Budget of the country is presented for this period.


 Actually, through the budget, the government tries to decide the extent to which it can spend in comparison to its earnings in the coming financial year.


 The budget of the country is based on GDP.


 The current market value of the products or services produced in a country in a given year is called GDP.  GDP means gross domestic product.  On this the budget of the country rests.  Actually, budgeting would not have been possible without GDP.  Without knowing the GDP, the government cannot decide how much it has to maintain the fiscal deficit.


 Also, without GDP, the government will not even be able to know how much the government will earn in the coming year.  Without assessing the earnings, it will also be difficult for the government to decide how much it has to spend in which scheme.



 The biggest changes in the budget so far



 Till 1955, the budget was printed only in English.


 In 1956, the budget began to be printed in Hindi.


 Till 2016 the Railway Budget was presented separately.


 In 2017, the Railway Budget was merged with the General Budget.


 Till 2016 it used to appear on the last day of February.


 In 2017, the date for presenting the budget was fixed as February 1.


 Before 1999, the general budget was presented at 5:00 pm.


 From 1999, it started presenting from 11:00 am.


 It is also necessary to fix the fiscal deficit target for the budget.



 Apart from GDP, it is also necessary to set a target of fiscal deficit for the budget for one year.  Fiscal deficit is fixed in proportion to GDP.  According to the fixed level of fiscal deficit, the government takes loan for that year.  If the GDP is high, the government will be able to borrow more from the market for spending.



 What are the main things included in the budget?


 Simply put, the general budget of the government is the details of its earnings and expenditure.  The major expenditure of the government is expenditure on welfare schemes of citizens, expenditure on imports, expenditure on defense and salary and interest paid on loans.



 At the same time, the share of earnings to the government includes taxes, earnings of public companies and earnings from the issuance of bonds.



 The Union Budget can be divided into two parts, the Revenue Budget and the Capital Budget:



 Revenue Budget



 This budget is an account of the income and expenditure of the government.  It includes revenue receipt or income and revenue expenditure received by the government.  There are two types of revenue receipt or income received by the government - coming from tax and non-tax revenue.



 Revenue expenditure is the expenditure on the day-to-day functioning of the government and the services rendered to the citizens.  If the revenue expenditure of the government is more than its revenue receipt, then the government has a revenue deficit or a revenue deficit.



 Capital Budget



 It includes capital receipts or capital receipts of the government and payments made on its behalf.  Government capital receipts or receipts contain details of loans taken from the public (in the form of bonds), loans from foreign governments and the Reserve Bank of India



 Whereas capital expenditure or capital expenditure includes the expenditure of the government on machinery, equipment, house, health facilities, education.  Fiscal deficit occurs when the total expenditure of the government exceeds its total income.



 Which finance minister has presented the budget for the most number of times?



 Morarji Desai: 10


 P. Chidambaram: 9 times


 Pranab Mukherjee: 9 times


 Yashwant Rao Chauhan: 7 times


 CD Deshmukh: 7 Ba


 Yashwant Sinha: 7 times


 Manmohan Singh: 6 times


 TT Krishnamachari: 6 times


 How many days before the budget preparation starts


 Preparation for making the budget starts about 6 months in advance i.e. usually in September.  In September, ministries, departments, states and union territories were issued circulars asking them to estimate their expenditure for the coming financial year and provide data on funds required for it.


 On the basis of these figures, funds are allocated to various ministries for public welfare schemes later in the budget.  Every day the Finance Minister, Finance Secretary, Revenue Secretary and Expenditure Secretary meet after the start of the budget making process.


 From October-November, the Finance Ministry meets with the officials of other ministries and departments and decides how much fund should be given to which ministry or department.  The budget making team has been continuously receiving inputs from the Prime Minister, the Finance Minister and the Deputy Chairman of the Planning Commission throughout this process.  The budget team consists of experts in various fields


 Before preparing and presenting the budget, the Finance Minister also holds discussions with several industry organizations and industry experts.  After finalizing all the things related to the budget, the blueprint is prepared.  After everything is decided regarding the budget, the budget document is printed.


 Paperless budget is being presented in the country since 2020.  Finance Minister Nirmala Sitharaman has presented paperless budget in 2020 and 2022.



 Briefcase to Paperless Budget:



 Till 2018 the finance minister used to carry the budget document in the briefcase.  In 2019, Nirmala Sitharaman brought the budget document in a file.  The national emblem was made on this file, it was called Bahi-Khata.


 In 2020, Nirmala Sitharaman read the budget speech from a tablet.  After that, the way of presenting the budget changed till now, where heavy briefcases were used, the same paperless budget is presented today.



 When does the budget session start in India and when does it come into force?


 The budget session of our country begins with the President's address.  Actually, after the commencement of any session or the formation of a new government, the first session of Parliament begins with the President's address.  The Budget 2022 session also began with the speech of President Ram Nath Kovind.


 The President's approval is required before the budget is presented in the Parliament.  After getting the assent of the President, it is placed before the cabinet and after that it is introduced in both the houses of the Parliament.



 Budget comes into effect from April 1


 After the presentation of the budget, it is necessary to get it passed by both the houses of Parliament i.e. Lok Sabha and Rajya Sabha.  After being passed by both the houses, the budget comes into force on the first day of the coming financial year i.e. 1st April.  The period of the current financial year in the country is from April 1 to March 31.


 Budget printing in North Block begins every year with the Halwa ceremony.  Halwa is made in a large pan in the Ministry of Finance.  The Finance Minister and all the officers of the Ministry of Finance participate in this program.  Halwa is distributed among the people present there.  However, this time the Halwa ceremony could not take place due to the Corona epidemic.  fed sweets to the people involved in the budget team



 Which woman finance minister presented the budget for the first time?


 In 1970, Indira Gandhi presented the budget as the first woman finance minister.  During that time, apart from the PM, he also had the charge of the Finance Ministry.



 Which is the longest and shortest budget speech?


 Nirmala Sitharaman's budget speech in 2020 was 2 hours 40 minutes, which is the longest budget speech ever.  Whereas in 1977, HM Patel presented an interim budget of eight hundred words, this is the shortest budget speech ever.



 Is there complete secrecy regarding the budget?


 The budget document is prepared by the selected officials of the Ministry of Finance.  In order not to leak the budget document, all computers used in it are isolated from other networks.  The officers and employees working on the budget have to stay in North Block offices for two to three weeks.  During this time they are not allowed to go out.



 Why is the Economic Survey conducted a day before the budget?


 The Economic Survey is presented in the house a day before the general budget of the country.  The Economic Survey for Budget 2022 was presented on 31 January 2022.


 The Economic Survey has projected GDP for the next financial year.  Economic Survey is an annual report card of the country's economy that examines the performance of each sector and then suggests future course of action.


 The first Economic Survey of India was presented in 1950-51.  Till 1964 it was presented along with the general budget, but from 1965 it was separated from the budget.



 Some interesting facts and important information related to the budget


 The first budget of independent India was presented by RK Shanmukham Chetty on 26 November 1947.  After Shanmukham, Finance Minister John Mathai presented the first United India Budget.


 In this only the economy was reviewed and no tax was imposed.  In this, the financial details of various states coming under the princely states were also presented.  Since 1947, 10 general budgets have been presented in the country.

Wednesday, August 21, 2019

August 21, 2019

NEW BLOGGER DHYAN DE

नए blogger  ध्यान दे - New Blogger Challenges in Hindi 2019


New Bloggers Challenges in Hindi 2019: दोस्तों आज की ये पोस्ट उनके लिए है जो ब्लॉग्गिंग फील्ड में आना चाहते है या फिर जिन्होंने अभी-अभी ब्लॉग्गिंग शुरू की है। आज की पोस्ट में मैं आपको बताने वाला हू कि अगर आप blogging  में अपना Carrier बनाना चाहते है तो आपको किन-किन मुश्किलों/चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। नये ब्लॉगर के सामने सबसे बड़ी चुनौतियाँ क्या-क्या है?


                          New blogger challenge pe dhyan de


Blogging कोई मुश्किल काम नहीं है लेकिन अब ये उतना आसान भी नहीं है जितना कि आप समझते है। आज के समय में blogging में success होना बहुत मुश्किल हो गया है।
इस बात में कोई संदेह नहीं है कि ब्लॉग्गिंग में Competition बढ़ता ही जा रहा है इसलिए जितना Competition बढेगा नए Bloggers को अपने पैर ज़माने में उतनी ही कठिनाइयाँ होंगी।

तो चलिए जानते है आखिर वो कौन-कौनसी चुनौतियाँ है जिन्हें New Bloggers को Face करना पड़ता है




नए bloger  ध्यान दे - New Blogger Challenges in Hindi 2019



New Bloggers Challenges in Hindi 2019: दोस्तों आज की ये पोस्ट उनके लिए है जो blogging फील्ड में आना चाहते है या फिर जिन्होंने अभी-अभी blogging शुरू की है। आज की post में मैं आपको बताने वाला हू कि अगर आप ब्लॉग्गिंग में अपना Carrier बनाना चाहते है तो आपको किन-किन मुश्किलों/चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। नये blogger  के सामने सबसे बड़ी चुनौतियाँ क्या-क्या है?

New Blogger Challenges in Hindi
Blogging कोई मुश्किल काम नहीं है लेकिन अब ये उतना आसान भी नहीं है जितना कि आप समझते है। आज के समय में blogging में success होना बहुत मुश्किल हो गया है।


इस बात में कोई संदेह नहीं है कि ब्लॉग्गिंग में Competition बढ़ता ही जा रहा है इसलिए जितना Competition बढेगा नए Bloggers को अपने पैर ज़माने में उतनी ही कठिनाइयाँ होंगी।
Free Website Blog बनाये पूरी जानकारी हिंदी में
तो चलिए जानते है आखिर वो कौन-कौनसी चुनौतियाँ है जिन्हें New Bloggers को Face करना पड़ता है।


Blogging में success होना अब बहुत मुश्किल हो गया है, एक new blogger को success blogger बनने के लिए कई सारी चुनौतियों का सामना करना पड़ता है, जो निम्न है।

1. समय (Time)

जो लोग full time job करते है, जब उनको blogging के बारे में पता लगता है तो वो सोचते है कि क्यों ना इसे part-time शुरू किया जाये। जी हाँ, ये बहुत अच्छी बात है अगर आप कही जॉब कर रहे है तो आप भी पार्ट-टाइम इसे शुरू कर सकते है। लेकिन...
पार्ट-time का ये मतलब नहीं कि आप इसे रोज़ाना आधा घंटा या फिर एक घंटा देकर blogging  में कामयाब हो जाओगे। अगर आपने पार्ट-टाइम ब्लॉग्गिंग करने का मन बना ही लिया है तो पहले एक बात अपने आप से पूछे कि क्या आप blogging  को एक सप्ताह में कम से कम 5 दिन रोज़ाना 2-3 घंटे दे पाओगे।

2. रूचि (Interest)



Blogging  में आने से पहले अपने आप से पूछे कि क्या आप किसी भी topic  में रूचि रखते है और क्या उस रूचि को internet  के माध्यम से लोगो में शेयर किया जा सकता है। अगर हाँ तो आपका स्वागत है।
Blogging  की शुरुआत तभी करे जब आप किसी एक topic के बारे में अच्छी जानकारी रखते हो, अगर ऐसा नहीं है तो पहले आप अपने interest के topic के बारे में सीखे उसके बाद blogging  शुरू करे।

3. गलत topic  चुनना (Choose Wrong Topic/Niche)


मैं यहाँ अपना अनुभव शेयर करूँगा कि blogging  में शुरुआत में मेरे 3 blog  बंद हो चुके थे सिर्फ इसलिए कि मैंने अपनी रूचि से अलग topic  को चुना। मैंने ये नहीं देखा की मेरा किसमे interest  है बल्कि मैंने सिर्फ ये देखा था कि किस topic  पर ज्यादा पैसा मिलता है और ज्यादा Visitors विजिट करते है।
ये एक बड़ी वजह है और इस वजह से बहुत से blogger को bloging  छोडनी पड़ती है, अपनी पसंद से अलग topic पर लिखने से एक समय के बाद उन्हें boring होने लगती है और blogging  छोडनी पड़ती है।

4. एक से ज्यादा blog  बनाना (Multiple Blogs)


New blogger अक्सर एक से ज्यादा website बना बैठते है और फिर उन सबको manage करने के चक्कर में किसी एक पर भी सही से focus नहीं कर पाते है, नतीजन ब्लॉग्गिंग में fail हो जाते है।
एक से ज्यादा ब्लॉग ना बनाये बल्कि एक blog  पर work करे और उसे अच्छे से design, setup कर अच्छा-अच्छा content publish करे ताकि आपके ब्लॉग को ज्यादा से ज्यादा audience मिले।

5. धैर्य (Patience)


बहुत से नए Bloggers शुरुवात के कुछ महीने में ही blogging  को छोड़ देते है कारण ये कि उनको ट्रैफिक नहीं मिलता और earning नहीं होती। लेकिन क्या आप जानते है गूगल को आपका ब्लॉग समझने में कम से कम 2 से 3 महीने लग जाते है।
Mostly blogs पर traffic  गूगल के द्वारा ही आता है और आज के समय में रोज़ाना हजारों blogs  बनाए जा रहे है इसलिए अगर आपने अभी-अभी शुरू किया है तो धीरज रखे।

6. पोस्ट पब्लिश (Post Publishing)

बहुत से नए bloger  एक दिन में 6-7 पोस्ट को पब्लिश कर देते है और फिर एक सप्ताह तक blog  को देखते तक नहीं है सोचते है मैंने तो पुरे सप्ताह की post  एक दिन में publish  कर ही दी है अब अगले सप्ताह फिर कर दूंगा।

ये बिलकुल गलत है। अपने ब्लॉग को regular update करे, इससे आपके विजिटर को भी मालूम रहेगा कि आप कब-कब पोस्ट publish करते हो और गूगल को भी जिस से google  आपकी post  को जल्दी Index करेगा।

अगर आप रोज़ाना एक नया post शेयर करते है तो रोज़ाना एक ही करे। दो दिन में एक कर रहे है तो भविष्य में भी दो दिन में एक ही करे। मतलब की आप अपने blogging  का एक समय सारणी बना ले। इस से आपको बहुत लाभ मिलेगा।

7. पोस्ट शेयरिंग (Post Sharing)

सुबह उठे, computer  या laptop  चलाया पोस्ट लिखी फिर पब्लिश कर दिया और फिर देखने लग गए Google Analytics पर कि कितने Visitors आ रहे है। अधिकतर blogger ऐसा ही करते है।

भाई visiter  आयेंगे कहाँ से किसी को मालूम ही नहीं कि आपने कोई post  लिखी भी है। पोस्ट लिखने के बाद उसका prakashan  करना बहुत ज़रूरी होता है, उसे शेयर करोगे तभी लोगो को उसके बारे में पता चलेगा।

आप post.  को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे लेकिन स्पैमिंग बिलकुल ना करे। अगर आपके पास समय बहुत ही कम होता है तो मैं नीचे कुछ बड़ी website  बता रहा हू जहाँ आपको अपनी post  को शेयर करना है।

Facebook

Twitter

Google Plus

Pinterest

Linkedin

Tumblr

Freewebsubmission

ये कुछ मुख्य सोशल networking  website  है जहाँ से आपको काफी फायदा मिलेगा और साथ में हो सके तो Quora पर थोडा समय बिताये और अपनी site की पोस्ट से related सवालो के जवाब दे कर post link add करे।

दोस्तों ये कुछ ऐसी गलतियाँ थी जिन्हें नए blogger पहचान ही नहीं पाते है। बाकि भी ऐसी बहुत ही गलतियाँ होती है जिन्हें नए bloger  करते है जिन्हें आप यहाँ Top 10 Blogging Mistakes पोस्ट में पढ़ सकते है।
August 21, 2019

Blog par new post likhane ke liy ideas kaha se lay

Blog  पर नई पोस्ट लिखने के लिए ideas कहा से लाये - 7 टिप्स

Blogging आज के दौर का एक शानदार करियर विकल्प है लेकिन इसमें भी कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है जैसे कि अगर आप एक blogger है तो आपके लिए New Blog Post Ideas पाना एक समस्या हो सकती है। आज की इस post  में हम जानेंगे कि new  blog  पोस्ट आइडिया कैसे और कहाँ से पायें जिससे हम blog  पर नियमित रूप से post  कर सके। 


                                 Blog ke liy new post kaha se lay

आप new blogger हो या पुराने आपके लिए अपने blog पर regular post करना जरूरी होता है। अगर आप एक न्यू bloger  हो तो आपके लिए अपने ब्लॉग को एक brand बनाने तथा ब्लॉगिंग में सफल होने के लिए regularly blog post करना बहुत जरूरी है।


Blog  पर नई post  लिखने के लिए आइडियाज कहा से लाये - 7 टिप्स


Blogging आज के दौर का एक शानदार करियर विकल्प है लेकिन इसमें भी कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है जैसे कि अगर आप एक blogger है तो आपके लिए New Blog Post Ideas पाना एक समस्या हो सकती है। आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे कि न्यू ब्लॉग पोस्ट आइडिया कैसे और कहाँ से पायें जिससे हम ब्लॉग पर नियमित रूप से पोस्ट कर सके। New Post Ideas Top 7 Tips in Hindi.
New Post Likhne Ke Liye Ideas Kaha Se Laye


आप new blogger हो या पुराने आपके लिए अपने blog पर regular post करना जरूरी होता है। अगर आप एक न्यू ब्लॉगर हो तो आपके लिए अपने ब्लॉग को एक brand बनाने तथा bloging  में सफल होने के लिए regularly blog post करना बहुत जरूरी है।

Blogging में fail होने का भी यह एक बड़ा कारण है, जब आपके पास blog पर new article लिखने के लिए new idea या topics नहीं होते हैं तो आप bloging  को छोड़ देते हैं।
बहुत से लोग तथा कई bloger  यह पूछते हैं कि blog  पर पोस्ट करने के लिए new ideas कहाँँ से लायें जिससे ब्लॉगिंग में निरंतरता बनी रहे। bloggers  की इसी समस्या का ध्यान रखते हुए हम यह पोस्ट लिख रहे हैं।

अगर आप यह post  पूरी पढ़ते हैं तो इसे पढ़ने के बाद आपके मन में यह सवाल पैदा नहीं होगा कि new blog post कौनसे topic पर लिखें, क्योंकि इस post में बताए गए तरीकों को आप follow करेंगे तो आपके पास नई blog  पोस्ट के लिए ideas और topics की कमी नहीं होगी।

How to Find New Blog Post Ideas in Hindi - Top 7 Tips for 2019

एक blogger को blogging में सफल होने के लिए अपने users के लिए नियमित तौर पर blog post लिखना जरूरी होता है। ऐसा करने से उस blogger की अपनी audience के साथ Bonding बढ़ती है।
जब एक blogger की अपनी audience के साथ अच्छी connectivity होती है तो लोग उसेक blog पर new post की उत्सुकता से प्रतीक्षा करते हैं और blog post publish होने पर उसे पढ़ते हैं। यह blog or website के लिए traffic बढ़ाने के साथ-साथ और भी कई मायनों से अच्छी बात होती है।
Blogging के लिए new post ideas बताने से पहले आपको इस बात को जानना जरूरी है कि आपने जो blog  बनाया है, उसमें आपकी रूचि (interest) होना जरूरी है अन्यथा आप लंबे समय तक ब्लॉगिंग (blogging) नहीं कर पाएंगे।
चलिये अब जानते है कि नई blog  post  लिखने के लिए पोस्ट ideas कहाँँ से ले। New Post Likhne Ke Liye Ideas Kaha Se Laye?

1. Google Trends

Google trends गूगल की एक service है जो searches keywords को record करता है और उनके समय के साथ होने वाले बदलाव को graph के साथ बताता है।
इसकी मदद से हमें यह जानने में help मिलती है कि किसी keyword को कितनी बार लोगों ने search किया और कहां से search  किया, साथ ही उसी location के बारे में भी  बताता है। इसकी मदद से हमें keywords की recent popularity का भी पता चलता है।
आप randomly किसी भी keyword को गूगल trends  में सर्च कर उसके बारे में जानकारी पा सकते हैं। साथ ही आप दो या दो से अधिक keywords  की तुलना भी कर सकते हैं।
Google trends को शुरुआत में समझना थोड़ा मुश्किल हो सकता है लेकिन इसको अच्छी तरीके से जानने के बाद आप इसके जरिए अपने लिए new blog post ideas generate कर सकते हो।

2. News Apps

आप अपने blog के लिए new post topics ढूंढने के लिए न्यूज़ ऐप्स (News apps) का सहारा ले सकते हैं। अपने android phone में कोई भी 1-2 popular news apps को download कर लो और उन पर regularly visit करते रहो।
इन application पर ढेर सारा content मिलता है जिनमें से आप अपने काम का content  या टॉपिक select कर सकते हो और उस पर अपने ब्लॉग के लिए न्यू blog  पोस्ट लिख सकते हो।
अगर आपका ब्लॉग news, technology, fashion, gadgets etc. category का है तो News apps ऐसी जगह है जहां से आप अपने blog  पर new post के लिये ढेर सारे new topics find कर सकते हैं।
Topics find करने के बाद आप इन्हें अच्छी तरीके से optimized कर google में rank करवा सकते हैं। यहां एक बात का ध्यान रखें कि आप न्यू पोस्ट का आइडिया ले कर खुद से content लिखे, किसी के content को copy ना करे।

3. Newspapers or Magazines
Magazines या newspapers में बहुत सारी ऐसी चीजें प्रकाशित होती है जिनके बारे में हम नहीं जानते हैं और उनमे से कुछ हमारे ब्लॉग से related भी होती है। नियमित तौर पर अखबार तथा पत्रिकाओं का पढ़ना bloging  के लिए न्यू ब्लॉग पोस्ट ideas पाने का एक बेहतरीन तरीका है।
सभी magazines अलग-अलग category की आती है इसलिए आप सिर्फ उसी magazine को चुनिए जो आपके blog niche से संबंधित हो। अगर आपका ब्लॉग टेक्नोलॉजी (technology) के बारे में है तो आपको new blog post idea पाने के लिए tech and gadgets संबंधित magazines पढ़नी चाहिए।
जैसे कि gadgets & technology से सम्बंधित कुछ पत्रिकाएं Computer shopper, T3 india, Web user, BBC focus etc. है

4. Read Related Blogs
आपका ब्लॉग जिस कैटेगरी का है उस category से related blog or websites को पढ़कर आप अपने ब्लॉग के लिए न्यू ब्लॉग पोस्ट का आईडिया पा सकते हैं।
अपने blog के similar niche के blogs को find करो और फिर उन ब्लॉग्स को पढ़ना शुरू कर दो, आपको post ideas खुद-ब-खुद मिल जाएंगे। यह तरीका काफी popular  भी है।
यहाँँ आपको इस बात की care करनी होगी कि आप किसी का content  कॉपी नहीं कर रहे है। इन sites को as a learning point of view से के लिए देखें और ideas ले।
अपने blog  से संबंधित blogs  को पढ़ने पर आपको न्यू पोस्ट ideas  के साथ-साथ अपनी site  को और बेहतर बनाने की भी जानकारी मिलेगी।

5. Connect with Readers
Blog पर new post लिखने के लिए new-new idea और topics पाने का सबसे अच्छा तरीका है अपने visitors के साथ connected रहना। अपने readers से पूछे या फिर वो खुद की आपको new topic बता कर post लिखने को कहेंगे।
अगर आप अपने audience connect रहोगे तो आपको नयी पोस्ट लिखने के लिए आर रोज new topic ideas मिलते रहेंगे और कभी भी new पोस्ट लिखने के लिए भटकना नहीं पड़ेगा।
इसके लिए आप अपने ब्लॉग पर email, social media या फिर commenting system का इस्तेमाल कर सकते है। Commens के द्वारा लोगो से जुड़े रहे इससे new idea मिलने के user का आपकी site में trust भी बढेगा।

6. Quora
Quora एक Question Answer site है और इसकी Popularity बहुत ज्यादा है। Quora की ranking under 100 है जो internet पर इसकी लोकप्रियता को दर्शाती है। साथ ही यह वेबसाइट हिंदी भाषा को भी सपोर्ट करती है जो हमारे लिए बहुत अच्छी बात है।
इस वेबसाइट पर आप अपना प्रश्न पूछ भी सकते है और दूसरों के प्रश्नों का उत्तर भी दे सकते हैं। ऐसा करके आप अपने ब्लॉग के लिए न्यू पोस्ट आइडिया भी पा सकते है क्योंकि जो भी यूजर आपसे इस platform पर सवाल पूछता है, आप उस प्रश्न keyword की Popularity के आधार पर ब्लॉग पोस्ट लिख सकते हो।
Quora पर new post ideas पाने के साथ-साथ इस पर पूछे गए प्रश्नों के उत्तर में अपनी ब्लॉग पोस्ट का आवश्यक स्थान पर link provide कर site traffic बढ़ा सकते हैं। साथ ही इस प्लेटफार्म से आप अपनी साइट के लिए Backlinks भी बना सकते हैं जो SEO के लिए बेहतर है।
Quora की अधिक जानकारी के लिए हमारा Quora क्या है और इसका इस्तेमाल कैसे करें? article read करे।

7. Join Q&A Forums
यह तो आप जानते होंगे कि लोग अपने प्रश्नों को पूछने के लिए Q&A forum ज्वाइन करते हैं। आप भी अलग-अलग प्रकार के forums को join कर अपनी knowledge को share कर सकते हो और अपने खुद के प्रश्नों को भी पूछ सकते हो।
इन forums में लोगों द्वारा पूछे गए प्रश्नों के आधार पर आप new blog post के लिए idea ले सकते हो। Quora भी इसी प्रकार का एक forum है जिसके बारे में ऊपर बताया गया है। लेकिन उसके अलावा भी बहुत से top and popular forum available है।
जैसे की ask.supportmeindia.com एक popular Hindi community forum है जिसे आप Do help - get help के base पर join कर सकते है और सवाल जवाब के साथ new post ideas find कर सकते है

Thursday, August 8, 2019

August 08, 2019

Blog ko social media ENGAGEMENT Incurred karne ki 7 pro tips

BLOG  को सोशल मीडिया Engagement

 Increes करने की 7 टिप्स

Digital Marketing के जमाने में किसी भी brand, business या blog के सफल होने में SOCIAL मीडिया मार्केटिंग बहुत जरुरी है। सोशल मीडिया MARKETING में सोशल मीडिया इंगेजमेंट एक अहम पहलू है। आज हम इस POST  में इसी के बारे में बात करेंगे। तो चलिए जानते हैं कि अपने BLOG  के लिए सोशल मीडिया Engagement कैसे बढ़ाएं



      Blog ko social media engagement increase karene ke top 7 trick



भले ही आपने BLOGGING  अभी-अभी शुरू की हो या फिर आप लंबे समय से BLOGGING  कर रहे हो, सोशल मीडिया का महत्व आपके BLOG  के लिए हमेशा बना रहता है

अगर आपके पास SOCIAL मीडिया पर अच्छे followers है तो आप उनकी मदद से अपने ONLINE  बिजनेस को कम समय में आसानी से SUCXESSFUL बना सकते हो।
आइये जानते है कि सोशल मीडिया इंगेजमेंट क्या होता है? 

Social Media Engagement क्या है?

इसका अर्थ है कि सोशल मीडिया FOLLOWERS को आपकी पोस्ट्स पर response या react बढ़ाने हेतु कुछ करना। अपनी सोशल PROFILE पर ज्यादा से ज्यादा FOLLOWERS बनाना ताकि आपके बिजनेस से ज्यादा से ज्यादा लोग जुड़ सकें।
आसान शब्दों में कहें तो, अपने content को सोशल मीडिया पर इस तरह से optimize कर पेश करना कि लोग उसके बारे में जानना चाहें और उस पर प्रतिक्रिया दें। इसको ही सोसल मीडिया engagement कहते हैं।

Social Media पर followers को बढ़ाना भी इसी के अन्तर्गत आता है। एक bloger  सोशल plateform का सही उपयोग कर ब्लॉग को next level तक पहुंचा सकता है।
सोशल मीडिया marketing  किसी भी blog  और वेबसाइट के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

Social Media Engagement कैसे बढ़ाये?

जब सोसल मीडिया  strategy को create करने की बात आती है तो चीजों यानि सोशल plateform पर प्रस्तुत होने वाले content का हमेशा helpful और genuine होना जरूरी है।
अगर आप social media  का सही उपयोग करते है तो सोशल मीडिया आपके content तथा audience को जोड़ने के लिए bridge का कार्य करता है।
आइए जानते हैं ऐसे tips  जो आपके blog कि सोशल मीडिया marketing  बढ़ाने में हेल्पफुल होंगे।

1. ब्लॉग  के लिए Goal सेट करें

इससे पहले कि आप अपने blog  के लिए सोशल मीडिया marketting  की रणनीति बनाने की शुरुआत करें। आपको अपनी blog  या website  के लिए स्पष्ट लक्ष्य निर्धारित करने होंगे।
सबसे पहले आप यह जान ले कि आपका blog  या website  वर्तमान में कहां है और आप आने वाले समय में अपने blog  को कहाँ देखना चाहेंगे।
जब आपके पास ब्लॉग के लिए सोशल मीडिया engaging बढ़ाने का Goal होगा तो आप प्रभावी तरीके से काम कर पाएंगे। एक लक्ष्य यानि Goal का होना आपकी strategy को GPS की तरह gaid करेगा।
Social Media के लिए goal कुछ इस प्रकार बना सकते हैं। जैसे कि मान लीजिए आपके facebook  ग्रुप में 50 सदस्य हैं तो आपका next target  यह होना चाहिए कि मुझे इतने दिनों में 1000 सदस्य complete करने हैं।

2. Target Audience को पहचानें

जब तक आप social media पर टारगेट ऑडियंस के साथ अपना content  शेयर नहीं करोगे। आपको उसका सही output  यानि रिजल्ट नहीं मिलेगा।
अगर आप एक travel & lifestyle ब्लॉगर  है तो travel places, travel टिप्स , new destination etc. के बारे में जानने तथा रूचि रखने वाले लोग आपकी टारगेट  audience होगी।
टारगेट  audience को पहचानने के लिए आप online surveys, campaigns चला सकते हैं या ऐसे फसेबूक  groups तथा pages की सहायता ले सकते हैं जो आपके ब्लॉग niche से संबंधित हो।

3. Visitors से Questions पूछें

यह एक सिंपल तरीका है जो blog  के लिए social  Media इंगेजिंग बढ़ाने में काम आ सकता है।
जब भी social midea पर पोस्ट करें तो users  से प्रतिक्रिया पाने के लिए कुछ काम करें। जैसे कि post  के लास्ट में उनसे पूछें कि post  का कौनसा पार्ट सबसे बेहतर लगा, comment करके बतायें या पोस्ट को शेयर करें और उसमें अपने किसी friend को टैग करें।
इसका मतलब है कि सोशल मीडिया पर पोस्ट सही तरीके से करें न कि ढेर सारी पोस्ट्स को एक साथ कर दें।
अगर आप बहुत ज्यादा posts  social media  पर शेयर करते हैं तो यह सोशल मीडिया पर users  से कनेक्टिविटी बढाने के लिए अच्छी बात नहीं है।
New posts के साथ-साथ पुरानी पोस्ट्स  को भी सोशल  मीडिया  के जरिये अपने readers के साथ शेयर करतें रहें। इससे रीडर  और ज्यादा गहराई से कनेक्ट होंगे।

5. कंटेंट  Quality सही रखें

जब आपके पास टारगेट  audience और Goal है तो कंटेंट  Quality ही आपको इस फील्ड में स्थिरता प्रदान कर सकती है।
सोशल platform  पर आपके द्वारा शेयर किया जाने वाला content ही यह तय करेगा कि आप social media  पर विजिटर्स के साथ relation  बना पाएंगे या नहीं।
अगर आपका content  अच्छा है और लोगों के लिए हेल्पफुल है तो आप निश्चित ही सोशल मीडिया पर अपने followers  के साथ अच्छे से connect  हो पाएंगे।
आपको न सिर्फ quality कंटेंट प्रदान करना है बल्कि क्वालिटी कंटेंट को इस तरीके से पेश करना है कि odiance इसे बेस्ट तरीके से receive कर सकें।
साथ ही जब भी आप social media  पर अपनी पोस्ट के link  को शेयर करें तो उस link  के साथ कुछ text भी लिखें। यह readers  को पोस्ट के बारे में जानने तथा link  पर क्लिक करने के लिए attract करेगा।

6. Fields  के Toppers से सीखें

Blogging  फील्ड के शीर्ष bloggers  से जुड़े और उनकी मार्केटिंग स्ट्रेटजी को समझें। उनके साथ अपनी problem शेयर करें और आगे बढ़ने के लिए tips  लें। ऐसा करना आपको वास्तव में बहुत help  करेगा।
Top blogs की प्रभावित करने वाली posts  को अपने सोशल platforms पर शेयर करें। उनकी सामग्री को साझा करके आप अपने followers को दिखा रहे हैं कि वे आप पर believe कर सकते हैं क्योंकि आप उन्हें Quality कंटेंट से connect करने के लिए अपने काम से बाहर पहुंचने के लिए तैयार हैं। जब आपके दर्शकों को लगता है कि वे जो आप साझा करते हैं, उस पर भरोसा कर सकते हैं तो वे आपको और आपके blog पर भरोसा करना शुरू कर देंगे।
यह blog  के लिए सोशल मीडियल  engagement बढ़ाने के तरीकों को नई दिशा देगा।

7. Personal things शेयर करें

जरूरी नहीं है कि आप ऐसा करें लेकिन followers के साथ थोड़ा transparent रहना सोशल मीडिया engaging बढ़ा सकता है।
Social media  लोगों के साथ निजी रूप से जुड़ने का plateform  है इसलिए आपको यह कोशिश करनी चाहिए कि आप अपने viewers के साथ वो कनेक्शन बना रहे हैं। जब भी आप कहीं travel  कर रहे हो तो उससे जुड़ी कोई  post  या photo  सोशल मीडिया पर शेयर कर दें, यह हमारे blog  का मानवीकरण करती है।
जब आपकी ordinance  को real लाइफ के बारे में जानने को मिलता है तो वे आपसे और अधिक connect  होना चाहेंगे।

ब्लॉग के लिए Social Media Engagement के फायदे

एक ब्लॉगर के लिए सोशल मीडिया  Engagement बढ़ाने  के कई फायदे हैं जिसमें से कुछ की बात हम यहां कर रहे हैं।
  • Blog network बड़ा होता है।
  • ब्लॉग का Traffic बढ़ता है।
  • Search ranking में फायदा मिलता है।
  • लोगों आपके blog  से सीधे जुड़ते है।
  • Blog की authority बढ़ती है।
  • ब्लॉग की Popularity बढ़ती है।
  • Link building में फायदा होगा।
अगर आप अपने blog  के लिए सही तरीके से काम करते हैं तो यह कुछ फायदे हैं जो आपके blog  को सोशल मीडिया के जरिए मिल सकते हैं। हो सकता है कि यह काम थोड़ा कठिन लगे लेकिन अगर आप प्रयास करते हैं तो यह संभव है, आसान है।
August 08, 2019

WEBSITE OUR BLOG KO KAM SAMAY ME POPULAR KESE BANAY

WEBSITE और BLOG को कम समय में POPULAR कैसे बनाएं?


आज के समय में, BLOGING  शुरू करने वाले हर ब्लॉगर के मन में यह सवाल जरूर आता है कि "अपने BLOG को कम समय में Successful, Famous और Popular कैसे करें?" क्योंकि अब BLOGING में Competition बहुत ज्यादा हो गया है और हर कोई कम से कम समय में सफल होना चाहता है। इसलिए आज हम आपको 10 ऐसे तरीके बताने वाले हैं जो आपके ब्लॉग को कम Time में Popular बना सकते हैं। 



     Website our blog ko kam samay me popular kese banay

सबसे पहले मैं आपको एक बात बता देना चाहता हूं कि Famous Blogger बनना और Blogging में Success होना, एक ही बात है। क्योंकि जब आप सफल BLOGER बन जाओगे तो जाहिर सी बात है आप प्रसिद्ध BLOGER भी हो जाओगे।

Bloging में सफल होने और सफल bloger बनने के बारे में पहले से ही कई artical  में बता चुका हूं, जिनमें से कुछ यह है।


लेकिन यहां पर सिर्फ success होने की नहीं बल्कि कम समय में success होने की बात हो रही है। इसलिए हमें कुछ ऐसे तरीके अपनाने होंगे जो हमारे Blog को Short Time में सक्सेज और लोकप्रिय बना सके।

इसके लिए हमें यह देखना होगा कि बहुत जल्दी सफल होने वाले bloger क्या करते हैं और जो लोग bloging में फेल हो जाते हैं वह कौन कौन सी गलतियां करते हैं।
उन सब के आधार पर ही हमें blogging करनी होगी ताकि हम गलतियां करने से बच सकें और कम से कम समय में अपनी website और blog को popular बना सके।

Websie और blog को कम समय में popular बनाने के 10 तरीके


यहां पर बताई गई tips और trics को फॉलो करके आप बहुत ही कम समय में अपने blog और अपने आप को popular कर सकते हो।

1. एक brand  के साथ शुरू करें


कम समय में success ब्लॉग बनाने के लिए, सबसे ज्यादा जरूरी है कि आप पूरी तैयारी के साथ blogging शुरू करें। इसके लिए आपको blogging शुरू करने से पहले, blogging के बारे में अच्छे से जान लेना चाहिए।

जब आपको blogging की Basic Knowledge हो जाए तो उसके बाद ही ब्लॉगिंग की शुरुआत करें। इसमें यह artical  आपकी मदद करेगा,
बिना नॉलेज के blogging की शुरुआत करना बिल्कुल वैसा ही है जैसे आंखों पर काली पट्टी बांधकर उबड़-खाबड़ रास्ते पर.दोड़ने की कोशिश करना। यह आपको कभी भी कामयाब नहीं बना सकता।

2. अपने blog में निवेश करें


अगर आपको कम से कम समय में अपने blog  को popular बनाना है तो आपको अपने blog को बेहतर बनाने में Invest करना होगा। तभी लोग आपके blog की ओर आकर्षित होंगे।

आपको शुरू से ही अपने blog को Brand बनाएं। इसके लिए आप अच्छा और सर्वश्रेष्ठ Blogging Platform (WordPress), Theme चुनें और ब्लॉग को Professional लुक में Design करें।

3. कुछ नया और अलग लिखें


Bloging में फेल होने की सबसे बड़ी वजह होती है, दूसरों की तरह हुबहू लिखना। अगर आप Less Time में Blogging में Success होना चाहते हैं तो आपको सबसे अलग और बढ़िया लिखना होगा

दूसरे bloger की Copy ना करें। वरना लोग आपके blog पर एक बार आएंगे जरूर लेकिन (आपके blog पर कुछ special नहीं है) सोच कर दोबारा आपके blog पर visite नहीं करेंगे।

4. सबसे अच्छा और बेहतर लिखें


यहां bloger  तो बहुत सारे हैं और हर रोज हजारों boger blog शुरू करते हैं। लेकिन अच्छा और बेहतर लिखने वाले bloger बहुत कम हैं। अगर आप बाकियों से बेहतर लिखने में सक्षम है तो आप बहुत कम समय में star बन जाय

क्योंकि अच्छा content मिलने पर एक visiter बार-बार आपकी site पर आएगा और इससे आपकी साइट पर पहुंच ज्यादा traffic बढ़ जाएगा, मतलब साफ है ऐसा होने पर आपका blog  popular बन जाएगा।
वैसा मत लिखें, जैसा पहले से ही बहुत से bloger लिख चुके हैं। बल्की ऐसा content लिखें, जिसे एक बार पढ़ने से ही विज़िटर आपकी site का Regular Reader बन जाए।

5. सही समय पर post करें


अगर आप एक डायरी blog लिख रहे हैं तो कोई दिक्कत नहीं आप जब चाहें अपने blog पर post लिख सकते हैं। लेकिन अगर आप दूसरों के लिए bloging कर रहे हैं और ऊपर से आप को कम समय में लोग को सफल बनाना है तो आपको लगातार लिखना होगा।

मेरा मतलब यह नहीं है कि आप 24x7 लिखते ही रहो। मेरा मतलब यह है कि आपके post शेयर करने का एक समय होना चाहिए। आपको Continue ठीक उसी समय पर post शेयर करनी है।
आप Daily, 2 दिन में, 5 दिन में या फिर हफ्ते में एक post लिख सकते हैं। बस आपके post शेयर करने का एक निश्चित समय होना चाहिए ताकि आपके odiance को पता रहे कि आप के blog पर नई पोस्ट कब आएगी।

6. Professional बने Beginner नहीं


आपको professional bloger बनकर काम करना है नौसिखिया बन कर नहीं। ताकि लोग आपके blog इसलिए इग्नोर ना करें क्योंकि आप शुरुआती (Newbie) हो।

आपके पाठकों को ऐसा लगना चाहिए कि आप professional हैं और आपका blog उनके लिए मददगार है, जिससे उन्हें हर रोज बेहतर और नया सीखने को मिलेगा। यह आपको जल्दी top bloger बना देगा।

7. Social media का इस्तेमाल करें


कम समय में अपने ब्लॉग को popular बनाने में, Social Media आप की सबसे ज्यादा मदद करेगा। सोशल मीडिया पर active हैं और नए नए लोगों से जुड़े। उन्हें अपने blog के बारे में बताएं।

साथ ही अपने blog के नाम से हर एक social media वेबसाइट पर account बनाएं और ज्यादा से ज्यादा लोगों को अपने blog  से जोड़ने की कोशिश करें। facebook पेज, whatsapp, twitter सब का इस्तेमाल करें।

8. अन्य bloger के साथ जुड़े


सिर्फ ordinance  तक ही सीमित ना रहे, बल्कि अपने जैसे बाकी bloger  से जुड़े। उनसे बात करें और उनके blog पर अपने ब्लॉग को Link करने के लिए कहें। आप दूसरों के ब्लॉग पर Guest Posting भी कर सकते हैं।

यहां ऐसे बहुत सारे लोग मिल जाएंगे जो Guest Post लिखने के बदले आपको Dofollow लिंक देंगे। जिससे आपकी साइट की Search Engines (Google, Bing, Yahoo..) में रैंक बढ़ेगी और आपको ज्यादा Organic Traffic मिलेगा।

9. साइट की SEO Optimizing करें


जब आपके blog  पर ज्यादा traffic  होगा तो जाहिर सी बात है आपका blog popular अभी होगा, और blog पर ट्रैफिक लाने के लिए सर्च इंजन में आपकी website  और blog का top  रैंक करना जरूरी है।

Search Engines में Top Rank पाने के लिए आपको अपनी साइड का Search Engine Optimization यानी SEO करना होगा।
इसके लिए आप अपने blog  की पोस्ट के कंटेंट में Keywords का सही सही इस्तेमाल करें, SEO Friendly Title चुनें, SEO Friendly Content लिखें। ताकि वह google में top सर्च में आए।



10. Blog के लिए YouTube Channel बनाएं


आज के समय में लोग Text content की तुलना में Video content ज्यादा पसंद करते हैं। इसीलिए आपके पास blog के साथ उसके लिए एक youtube चैनल भी होना चाहिए।

अपने blog के नाम से या blog के लिए एक youtube चैनल बनाएं और उस पर अपनी पोस्ट के कंटेंट से Related Videos बनाएं। वीडियो में अपने blog की पोस्ट के लिंक को शामिल करें और post में भी वीडियो को Add करें।

11. वेटर की तरह लोगों की सेवा करें


आप अपना Attitude दिखाकर कम समय में अपने ब्लॉग को popular नहीं बना सकते। आपको होटल के वेटर की तरह काम करना होगा और ज्यादा से ज्यादा लोगों को अपने blog से जोड़ना होगा।

अगर आप सिर्फ post लिखकर blog पर public कर दोगे तो आपके blog को popular होने में बहुत टाइम लग जाएगा। क्योंकि जब आपका blog  google  में रैंक करेगा तभी आपको traffic  मिलेगा और तभी आपका blog  लोकप्रिय होगा।
लेकिन अगर आप एक वेटर की तरह विनम्र बनकर लोगों को अपनी website से जोडोगें तो बहुत जल्द आपके blog को जानने वालो की संख्या लाखों में होगी और जल्दी ही आपका blog popular हो जाएगा।
ये Point मैं अलग से जोड़ रहा हूं। हालांकि यह इतना importent नहीं है लेकिन आपकी blog को जल्दी success बनाने में बहुत मदद कर सकता है।